गुरुवार, 28 मई 2009

तुम्हे कुछ याद आया

१-स्कुल के सामने
जब तुम
चाट खा रही थी
मिर्ची के कारन जीभ जल गई थी
तब
पानी का गिलास लिए मै ही तो खड़ा था

तुम्हे याद नही


२-सुनी सड़क से लौट रही थी
मन ही मन डर रही थी
टायर पंचर हो गया था
तब सायकल सहित घर तक
तुम्हे पहुचाने मै ही गया था
तुम्हे याद नही

{किशोर }

कोई टिप्पणी नहीं: