रविवार, 12 अप्रैल 2009

११६-नये अक्षर ,नयी कवीता

२-नदी के इस पार की
सारी पग-dndiyo पर
बिछे हुवे
करोडो
प्यास से सूखे
भूख से पीले
ldkhdate
पत्तो को
इसी आदमी का इन्तजार है

जीसे
सैकडो वर्ष पूर्व
पहाड़ कीचोटी की एक् गुफा मे
मुखियो ने
कैद कर दिया था

कोई टिप्पणी नहीं: