सोमवार, 6 अप्रैल 2009

१११-सर्वश्रेष्ठ है मनुष्य

३-सबका हित
हो संग साहित्य
लेकीन हर हाल मे सर्वो -परी
सर्व -श्रेष्ठ है मनुष्य {किशोर कुमार खोरेन्द्र }

कोई टिप्पणी नहीं: