सोमवार, 20 अप्रैल 2009

१-Bhoomi:

Hello .............

Send your more poetries to me i like that........


२-Bhagvandas:

Kishor, tera javab nahi...

३-Nanda:

क्षमा कीजिये किशोरजी मैं वक्त पर आपके स्क्रेपों का उत्तर नहीं दे सकी
आशा हैं आप सकुशल हैं
आपकी कविताएँ वाकई में कबीले तारीफ हैं
लिखते रहिये और मुझे भेजते रहिये
जय श्री रामकृष्ण

कोई टिप्पणी नहीं: